श्राद्ध पक्ष में भागवत श्रवण करने वालों के पितृ होते हैं तृप्त:आचार्य ममगांई

0
शेयर करें


मातृ पितरों के उद्देश्य से जो अपने प्रिय भोग्य पदार्थ श्रद्धा पूर्व प्रदान किये जाते हैं उसी अनुष्ठान का नाम श्राद्ध है मनुष्य अपनी करनी का फल भोगता है परंतु वृद्ध माता पिता आदि वृद्ध जनों की आज्ञा का पालन करने से पुत्रता सिद्ध होती है उनके मर जाने पर और्ध्वदेहिक संस्कार पिंडदान करने से पुत्रता सिद्ध होती है श्राद्ध पक्ष में भागवत श्रवण करने वालो के पितृ तृप्त हो जाते हैं
उक्त विचार ज्योतिष्पीठ ब्यास आचार्य शिव प्रसाद ममगाईं ने मोहकमपुर राजेश्वरी पुरम में आयोजित श्रीमद्भागवत के तृतीय दिवस में व्यक्त करते हुए कहा कि भौतिकवादी युग मे दिखावा अधिक हो रहा है जबकि धर्म को दिखावे से कोई सम्बन्ध नही है उन्होनें कहा कि दूसरों के लिए बुरा सोचने वाला व्यक्ति स्वयम ही परेशानियों में घिरा रहता है इसके विपरीत दुसरों को ख़ुशी देने वाला व्यक्ति विशाल ह्रदय का मालिक होता है साथ ही उसे सारी खुशियाँ स्वयं ही प्राप्त हो जाती है उन्होंने मानव जीवन पर संस्कारों की अहम भूमिका बताई आज प्रगति का युग है लोग कहते हैं मनुष्य धर्म और समाज के रूढ़िवाद से ऊपर उठकर आज आगे बढ़ गया है आज मानव धर्म ही सर्वोपरि धर्म है और मानव सेवा ही सबसे बड़ा पुण्य है मनुष्य आज पहले से अधिक सुखी और स्वतंत्र और ज्ञानवान बन गया है परंतु क्रियात्मक रूप में जब हम देखते हैं तो हमे ज्ञात होता है कि सभ्य सुशिक्षित कुछ प्रगतिशील जनों का नही किंतु देशों का भी है विचारशील तथा ज्ञानवान बनने का दम भरने वाले वे लोग स्वार्थ लिप्सा के लिए कोई भी कुकृत्य करने में नही हिचकिचाते अस्तु यह सब दिखलाने का यह तातपर्य है कि धर्म मूलक राज्य रखते हुए भी हिन्दू शाशकों ने कभी किसी की धार्मिक स्वतंत्रता का अपहरण नही किया किंतु सभी विचार वाले लोगो को अपने विचार जनता के सामने रखने और पालन करने की स्वतंत्रता भी है
इस अवसर पर प्रदेश अध्यक्ष महिला मोर्चा भाजपा आशा नौटियाल महानगर अध्यक्ष कमली भट्ट सरोजनी सेमवाल सतीश चंद्र भट्ट जगदीश भट्ट रविंद्र भट्ट नोएडा राजेश अभिमन्यु गणेश हरिचंद्र चैतन्य आदविक परमजीत जगदीश पन्त सरोजनी पंत रमेश चन्द्र नौटियाल अतिक्ष बीना देवी सुनीता उषा सोमावती कांति धस्माना राजकुमारी कुकसाल निहारिका नीलम ध्यानी सरोज पंत पूनम ममगाईं पूर्व मंडल अध्यक्ष भाजपा ,सुमन सिंह ,निधि राणा, प्रियंका गुसाई ,सर्वेश्वरी थपलियाल ,नैना , अंशिता ,गीता पुरोहित शकुन्तला ईष्टवाल ,के साथ अन्य भी कई महिला कार्यकर्ता उपस्थित रही ।।

About Post Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.








You may have missed

रैबार पहाड़ की खबरों मा आप कु स्वागत च !

X