4 जून मतगणना के लिए उत्तराखंड ने की यह तैयारी, दोपहर बाद स्पष्ट रुझान की उम्मीद

शेयर करें

देहरादून। लोकसभा चुनाव को लेकर राज्य में पारदर्शी और निर्विघ्न चुनाव प्रक्रिया के लिए उत्त्तराखंड को एक बार फिर शाबाशी मिली है। दरअसल बेहतर चुनाव प्रक्रिया के संचालन और सटीक कानून व्यवस्था के प्रबंधन जैसे बिंदुओं पर भारत निर्वाचन आयोग ने राज्य की पीठ थपथपाई है। मुख्य निर्वाचन अधिकारी उत्तराखंड की भारत निर्वाचन आयोग के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हुई बातचीत में जहां एक तरफ आगामी मतगणना के लिए एक्शन प्लान तैयार किया गया है, तो वहीं भारत निर्वाचन आयोग ने उत्तराखंड में हुए मतदान के लिए भी अधिकारियों की सराहना की।

 

4 जून को होगी मतगणना

देशभर में लोकसभा चुनाव के लिए 4 जून को मतगणना होनी है। इसके लिए अब एक्शन प्लान भी तैयार किया जाने लगा है। इसी कड़ी में भारत निर्वाचन आयोग के अधिकारियों ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से उत्तराखंड के मुख्य निर्वाचन अधिकारी और दूसरे तमाम अधिकारियों के साथ बातचीत की। इस दौरान भारत निर्वाचन आयोग के अधिकारियों ने राज्य में 19 अप्रैल को हुई मतदान प्रक्रिया के सफल आयोजन के लिए प्रदेश के अधिकारियों की प्रशंसा की। भारत निर्वाचन आयोग के अधिकारियों ने उत्तराखंड में मतदान के दौरान उत्तराखंड निर्वाचन आयोग की तैयारी पर खुशी जाहिर की. इसके अलावा कानून व्यवस्था को बेहतर तरीके से लागू करने के लिए भी उन्होंने उत्तराखंड पुलिस की तारीफ की है।

 

देर से आएगा पौड़ी लोकसभा सीट का रिजल्ट

इलेक्शन कमीशन ऑफ इंडिया की जोनल बैठक में उत्तराखंड निर्वाचन के मैनेजमेंट की सराहना करने के साथ आगामी मतगणना के लिए भी एक्शन प्लान पर बातचीत की गई। मुख्य निर्वाचन अधिकारी डॉ बीवीआरसी पुरुषोत्तम ने बताया कि इस बार पौड़ी लोकसभा सीट को छोड़ दिया जाए, तो बाकी चार लोकसभा सीटों पर दिन में 1 से 2:00 बजे के बीच मतगणना की प्रक्रिया को पूरा कर लिया जाएगा। वहीं पौड़ी जनपद में भी शाम 4 से 5 बजे तक मतगणना को पूरा किए जाने का लक्ष्य तय किया गया है। इसमें कहा गया कि पौड़ी लोकसभा सीट पर पोस्टल बैलेट अधिक होने के कारण इस लोकसभा सीट पर थोड़ा ज्यादा समय लगेगा।

 

सुबह 8 बजे से होगी मतगणना

लोकसभा चुनाव के लिए 4 जून को होने वाली मतगणना की शुरुआत सुबह 8:00 से होगी। सबसे पहले लोकसभा चुनाव पोस्टल बैलेट की गिनती की जाएगी। सुबह करीब 8:30 बजे से इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन में कैद मतों की गिनती शुरू कर दी जाएगी। प्रदेश में जहां एक तरफ करीब 100,000 पोस्टल बैलट प्राप्त हुए हैं, तो वही ईवीएम के जरिए 58% मतदाताओं ने मतदान का प्रयोग किया है।

 

मतगणना के लिए लगाई गईं 884 टेबल

मुख्य निर्वाचन अधिकारी डॉ बीवीआरसी पुरुषोत्तम ने बताया कि राज्य में काउंटिंग व्यवस्था को सुनिश्चित कर लिया गया है। इसके लिए सभी जिलों में अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक भी कर ली गई है। मतगणना को पारदर्शी रूप से पूरा करने के लिए मतगणना स्थल को तीन सुरक्षा घेरे में रखा गया है। प्रदेश में कुल 884 मतगणना टेबल लगाई गई हैं।

About Post Author

You may have missed

रैबार पहाड़ की खबरों मा आप कु स्वागत च !

X