पारम्परिक लोक वाद्य यंत्र विधा में अंजू रही पूरे देशभर में अव्वल

0
शेयर करें

कला-उत्सव कार्यक्रम के तहत कालसी की ये बालिका आई प्रथम

देहरादून।
राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित कला उत्सव प्रतियोगिता 2021-22 में उत्तराखण्ड की अंजू ने पूरे देश में प्रथम स्थान प्राप्त कर जीत का परचम लहराया। अंजू, राजकीय बालिका इण्टर कॉलेज हरिपुर कालसी जनपद-देहरादून कक्षा 10वीं की छात्रा ने पारम्परिक लोक वाद्य यंत्र विधा के अन्तर्गत ढोल वादन में प्रथम स्थान हासिल किया । अंजू ने हारूल जैता, नाटी रासो आदि धुनों पर ढोल वादन में प्रस्तुति दी। ढोल वादन में अंजू के साथ संगतकर्ता के रूप में दमाऊ पर साधना और रणसिंहा पर रिंकी द्वारा संगत किया गया।
राष्ट्रीय स्तर पर कला उत्सव प्रतियागिता का परिणाम 18 जनवरी को भारत सरकार द्वारा वर्चुअल माध्यम से जारी किये गये। भारत सरकार द्वारा प्रतिवर्ष लोक कलाओं के संवर्धन एवं विकास हेतु माध्यमिक विद्यालयों के कक्षा 09 से 12 तक के विद्यार्थियों हेतु विभिन्न विधाओं में कला उत्सव प्रतियोगिता का आयोजन किया जाता है। कला उत्सव का आयोजन विद्यालय स्तर से जनपद स्तर, राज्य स्तर एवं राष्ट्रीय स्तर पर प्रतियोगिता के रूप में विभिन्न चरणों में सम्पन्न होता है।
इस वर्ष भारत सरकार द्वारा ये कार्यक्रम दिनांक 01 जनवरी से 12 जनवरी तक वर्चुअल माध्यम से सम्पन्न हुए। इसी क्रम में 18 जनवरी को राष्ट्रीय स्त्रीय कला उत्सव प्रतियोगिता का समापन वर्चुअल माध्यम से परिणामों के साथ प्रस्तुत किया गया। जिसमें रा.बा.इ.का. हरिपुर कालसी जनपद देहरादून की कक्षा 10वीं की छात्रा अंजू ने उत्तराखण्ड से राष्ट्रीय स्तर पर पारम्परिक लोक वादन में प्रथम स्थान प्राप्त किया है। कुछ अंजू इससे पूर्व भी राष्ट्रीय स्तर पर प्रतिभाग कर चुकी है। तथा उसके अथक मेहनत प्रयास से उसने इस बार राष्ट्रीय स्तर पर प्रथम स्थान प्राप्त किया।
अंजू की इस उपलब्धि पर राज्य परियोजना निदेशक बंशीधर तिवारी, अपर राज्य परियोजना निदेशक डॉ0 मुकुल कुमार सती द्वारा छात्रा एवं मार्गदर्शक शिक्षिका के साथ-साथ पूरे विद्यालय परिवार और जनपद-देहरादून को बधाई देते हुए उनके इस अनुकरणीय कार्य की सराहना की गयी एवं छात्रा के उज्जवल भविष्य के लिए शुभकामनायें प्रेषित की।
इस अवसर पर संयुक्त राज्य परियोजना निदेशक मंजू भारती, सहायक राज्य परियोजना निदेशक प्रद्युमन सिंह रावत और कार्यक्रम संचालक अनूप सिंह नेगी आदि ने छात्रा, उसके सहयोगी छात्राओं व मार्गदर्शक शिक्षिका गायत्री मैंदोला को बधाई एवं शुभकामनायें प्रेषित की।

About Post Author

Leave a Reply

Your email address will not be published.








You may have missed

रैबार पहाड़ की खबरों मा आप कु स्वागत च !

X